• ~ Mark Twain

    ~ Mark Twain

    "Loyalty to country "ALWAYS". Loyalty to government, when it deserves it."
  • images

    ये कौन सी दुनिया बची है ?

    सोचा था राजनैतिक कुछ भी नहीं लिखूंगा, लेकिन पानी सर के पार जा चुका है, अगर हम अभी भी नहीं जागे तो न इस देश में रहने वाले लोग बचेंगे न ये देश,अगर अभी भी नहीं सभले तो हमारी आने वाली नस्लें इससे भी बुरा वक़्त देखेंगी| कविता आज जो आदमी जिंदा जला दिया गया, उस मजदूर के लिए|

    जब इंसान को इंसान जिंदा जलाये
    विडियो बना उसका इन्टरनेट पर चलाये,

    तो फिर ये कौन सी दुनिया बची है ?
    इधर मीडिया इसे चुनावी मुद्दा बनाये,
    सरकारों के चेहरे पर स्माइल आये,
    मजहबों के नाम पर नफरतें उगाये,

    तो फिर ये कौन सी दुनिया बची है ?

    गरीब कभी भूखा मर जाये
    या फिर वो भात भात चिल्लाये
    किसी हाकिम को ये नज़र न आये
    वो उससे काला धन निकलवाने को
    लाइनों में लगवाये ,

    तो फिर ये कौन सी दुनिया बची है ?

    इश्क के उपर वो इमरजेंसी लगवाए
    इश्क करने वाले को जिहादी बताये
    आईएसआईएस के जैसे डेमोक्रेसी में धमकाए
    किसी बीवी से उसका शौहर छीन ले जाये,
    देश की सरकार इसे लव जिहाद का केस बताये

    तो फिर ये कौन से दुनिया बची है ?

    गाय के नाम पर बेकसूरों को खुलेआम
    पटक पटक मौत के घाट उतारा जाये
    कानून खड़ा रहे नंगा
    और कुछ न कर पाए
    कातिलों का स्वैग से स्वागत किया जाये
    हिंदुस्तान में भगवा आतंकवाद को
    धर्मं के नाम पर सरंक्षण दिया जाये
    कोई इसको काटे कोई उसको मारे
    मारकाट मच जाये

    तो फिर ये कौन सी दुनिया बची है ?