• ~ Mark Twain

    ~ Mark Twain

    "Loyalty to country ALWAYS. Loyalty to government, when it deserves it."
  • naya

    एक नया विकल्प दे …

    कल नहीं आज
    अब नहीं अभी
    चल नहीं दाैड़
    लाचारी की राह छाेड़
    स्वर नहीं विचार उठा
    मत भटक लुटा पिटा
    सूर्य की आग का
    युद्ध के राग का
    अंतिम आह्वान कर
    निर्णायक संघर्ष में
    पराक्रम का ध्यान कर
    मृत्यु का भय नहीं
    है तेरी विजय यहीं
    पापियाें का सर्वनाश
    तेरे हाथ से लिखा
    लाेभ माेह मत दिखा
    तू ही एक सत्य है
    शेष सब मर्त्य है
    धर्म काे नव रूप दे
    छाँव त्याग धूप ले
    सुख सेज त्याग कर
    निद्रा से जाग कर
    प्रतिबद्ध हाे संकल्प ले
    इक नया विकल्प दे ..