• ~ Mark Twain

    ~ Mark Twain

    "Loyalty to country "ALWAYS". Loyalty to government, when it deserves it."
  • DSC_0622

    आख़िरी नज़्म के प्रथम मंचन की समीक्षा..

    अगर कोई नाटक प्रेम प्रसंग से शुरू हो बम धमाकों पर ख़त्म हो और नाटक को कहानी के साथ नज़्म और शायरी द्वारा पेश किया जाये तो आपके दिमाग में पहला ख्याल क्या आएगा? बेशक, आप कहेंगे “बोरिंग” इस सोच को सय्यद बिलाल हसन निर्देशित और समाजी की प्रस्तुति “आख़िरी नज़्म” पॉवर्ड बाय लर्नर्स थिएटर एक्टिविटी ने तोड़ दिया। सय्यद बिलाल हसन जो की इसके नाटककार हैं और साथ ही साथ मुख्य किरदार रेहान का अभिनय भी किया।

    DSC_0622

    नवाबों और कबाबों के शहर लखनऊ में १३ जनवरी को वाल्मीकि रंगशाला में “आख़िरी नज़्म” को रंग प्रेमियों और मीडिया के समक्ष प्रस्तुत किया गया। अतिथि के तौर पर आख़िरी नज़्म के मीडिया पार्टनर, एक्सप्रेस टुडे के एडिटर-इन-चीफ श्री अनुपम सिंह, समाजवादी पार्टी के युवा नेता श्री अभिषेक यादव, और अलग दुनिया से श्री कृष्ण कान्त वत्स मौजूद थे। नाटक की एक ख़ास बात यह रही कि जैसे नाटक नज़मों और शायरियों को भी खुद में समाये था, मंच संचालक अभिनव सिंह ने इसकी शुरुआत भी अहमद फ़राज़ जिनका जन्मदिन १२ जनवरी को था, इसे मद्देनज़र रखते हुए, उनके नज़मों से किया।

    1508998_761185860576318_1647814348_n

    आख़िरी नज़्म ने आज की भागती दौड़ती जिंदगी में कहानियों के कहीं खो जाने की दशा बतायी है, वो जिंदगी का एक सत्य भी है। नाटककार ने जिस तरह एक प्रेम कहानी में धर्म और आतंकवाद का तड़का लगाया और समाज और सरकार पर तमाचा जड़ा है वो काबिलेतारीफ है। माधवी के प्यार ने रेहान को शायर बना दिया और कमाई भी होने लगी पर दोनों का एक होना समाज और धार्मिक ठेकेदारों को नागवार गुजरा।  इंतहा तो इस हद तक हो गयी की बम धमाकों ने कई लाशें बिछा दीं और उन्ही लाशों में माधवी भी खो गयी। नाटक ने शिक्षा पर भी विशेष जोर देते हुए कहा कि अगर आप शिक्षित हो तो आपकी सोच भी समझदार होगी और आपके अंदर की धार्मिक कट्टरता भी ख़त्म हो जायेगी।

    1485069_761186023909635_1585413507_n

    प्रशांत वाजपेयी जिन्होंने कहानी, शायर और इमाम जैसे विभिन्न किरदार निभाया, नाटक का एक बेहतरीन और अहम हिस्सा रहे।

    1521285_761185457243025_1559817169_n

    नाटक की कहानी और अदाकारी से प्रभावित होकर दर्शकों ने खूब दाद दिया।

    आख़िरी नज़्म को ४/५ स्टार।

    Abhinav Singh
    Connect @

    Abhinav Singh

    Marketing professional in media & entertainment industry. Theatre actor & poet.
    Abhinav Singh
    Connect @
    • Anuradha

      Chandigarh awaits…… maybe dwitiya manchan…..

      • Abhinav Singh

        We are also trying to stage in other cities as well.