• ~ Mark Twain

    ~ Mark Twain

    "Loyalty to country "ALWAYS". Loyalty to government, when it deserves it."
  • aarakshan

    आरक्षण

    गर आज समानता लानी है तो और आरक्षण कर डालो,

    घटती प्रतिभा तो बढ़ा न सके, बढ़ती का भक्षण कर डालो,

    आरक्षण वालो आराम करो, सजातियों तुम मेहनत कर के भी मरो,

    कुण्ठित प्रतिभा को लिए फिरो, सरकारी संपत्ति नष्ट करो,

    गर आज समानता लानी है तो और आरक्षण कर डालो

    जो लकड़ी थमाई थी इनको, की पकड़ चलो इन राहों पर,

    वो आज बैसाखी बनी खड़ी, बेकार पड़ी इन टांगो पर,

    गर आज समानता लानी है तो और आरक्षण कर डालो

    इस जाट पांत की पॉलिटिक्स में, तुमने देश को जला डाला,

    बोफोर्स किसी ने खाया था, तुमने हिन्दुस्तान चबा डाला,

    गर आज समानता लानी है तो और आरक्षण कर डालो,

    घटती प्रतिभा तो बढ़ा न सके, बढ़ती का भक्षण कर डालो,

    घटती प्रतिभा तो बढ़ा न सके, बढ़ती का भक्षण कर डालो,

    गर आज समानता लानी है तो और आरक्षण कर डालो

    Latest posts by Param Hans Mishra (see all)