• ~ Mark Twain

    ~ Mark Twain

    "Loyalty to country ALWAYS. Loyalty to government, when it deserves it."
  • Logo_Featured

    अभिनव समाज

    राम, रहीम, पीटर और मोहन सिंह थे मित्र
    खेल-खेल में झगड़े सारे बने क्रोध के चित्र
    रामायण को राम भूले और रहींम कुराण
    पीटर भाई गिरजाघर में भूल गये भगवान

    मोहन धर्म दया सब भूलेँ
    लगे उगलने आग
    बचपन के मित्रों ने जैसे
    भुला दिया अनुराग

    रहा नहीं अनुराग और
    जब रहा नहीं वो मेल
    ऐसी बिगड़ी बात जो
    बिगड़े सारे खेल

    जब उनको एहसास हुआ
    अपनी भूल
    मित्रता बनानी चाही रख
    बातेँ मुल
    अपनी रंजीश भुला वो सब
    अपने कदम बढ़ाएं
    मिल कर वो अपने प्रयास से
    अभिनव समाज बनाए